Friday, April 16, 2010

आखिर 'आई पी एल 'का सच सामने आया...

पिछले तीन सालों से आई पी एल का सफल आयोजन हो रहा है और इतने कम समय में इस लीग ने अच्छी लोकप्रियता भी हासिल कर ली है!पूरे देश में ही नहीं विश्व भर में इसका जादू सर चढ़ कर बोल रहा है!क्रिकेट का ये रंगीन और हसीन संस्करण लोगों को खूब लुभा रहा है!
पर जिस तरह नकली गहनों क़ी चमक कुछ समय बाद उतरने लगती है ,उसी तरह अब आई पी एल के पीछे का भी सच सामने आने लगा है!कोच्ची टीम को लेकर थरूर और ललित मोदी क़ी जंग से कुछ छुपे राज़ सामने आ गए है!टीमों के मालिकाना हक को लेकर कुछ नए तथ्य सामने आ रहे है!अभी तक फ़िल्मी सितारों को ही टीम के मालिक मन जा रहा था..लेकिन अब जाके पता चला है क़ी वो तो एक चेहरा भर थे!असली मालिक कोई और ही है और पैसा किसी और का लगा है!अब तो ये भी जांच हो रही है क़ी कहीं ये काला धन तो नहीं? कहीं काले धन को आई पी एल क़ी आड़ में सफ़ेद में तो नहीं बदला जा रहा?
वैसे यदि आप टीमों के मालिकाना हक को देखें तो कुछ बातें पहली नज़र में ही संदेहास्पद लगती है!ललित मोदी ने जान बूझ कर असली मालिकों को  कभी सामने नहीं आने दिया!किस टीम में किसका पैसा लगा है,कौन शेयर धारक है ?ये एक राज़ ही रहता ...अगर कोच्ची विवाद नहीं होता..!
और अब एक नया विवाद...
चीयर लीडर्स ,शराब और फूहड़पन के बाद अब फिक्सिंग का साया भी आई पी एल पर पड़ता दिख रहा है!हालांकि ये बात खुल कर सामने नहीं आई है पर दाल में कुछ काला जरूर है!कई टीमों का प्रदर्शन शक पैदा करता है!अब देखने वाली बात ये है कि क्या ललित मोदी आई पी एल को इन मुसीबतों से निकाल पाएंगे?

7 comments:

'अदा' said...

सचमुच जब ऐसी बातें सामने आती हैं तो हर व्यक्ति खुद को ठगा हुआ महसूस करता है....ये सब कुछ काले धन की कारस्तानी है कोई भरोसा नहीं कल को अन्दर्वार्ल्ड का भी हाथ नज़र आये....
आपके लेख ने आँखें खोलने को विवश किया है...हम तो बाहर रहते हैं ओर इस खेलों से उतना वास्ता भी नहीं पड़ता फिर भी जान कर क्षोभ तो हुआ है...
आपका आभार...

ansuya said...

ye sach to saamne aana hi tha...ab lalit modi kya karenge?dekhna hoga..

संजय बेंगाणी said...

अजी असली खेल तो है अरबों का सट्टा. मामला जितना उपर से दिखता है, जमीन में कहीं अधिक गहरा है. नेता से लेकर अंडरवर्ल्ड तक सबके हित जूड़े है.

श्याम कोरी 'उदय' said...

...ललित मोदी किसी मुसीबत से कम हैं क्या !!!!

sangeeta said...

Thanks for dropping by and appreciating my work...
read many of your posts today and i really feel that the things should be talked n discussed like thin n not be pushed under the carpet...

Babli said...

इतने दिनों से ललित मोदी और शशि थरूर को लेकर बात चल रहा था और सच्चाई तो सामने आना ही था! अब देखते हैं की क्या होगा ललित मोदी का!

विश्वनाथ सैनी said...

thanks for comment