Monday, May 21, 2012

आई पी एल बंद हो ....

बाबा रामदेव ने जब से काले धन का मुद्दा उठाया है ,तभी से पूरा तंत्र उनके खिलाफ सक्रिय हो गया है ! उनके खतों की जांच हो रही है ,दवाइयों को उच्च मानकों पर परखा जा रहा है ,आयकर विभाग अलग से कार्यवाही कर रहा है !कोई बात नही ......कौन खरा है पता चल जायेगा !
                                                      पर अभी जो कुछ आई पी एल में देखने को मिल रहा है ,उसका क्या ? क्या इसकी भी जांच नही होनी चाहिए ? जब कुछ खिलाडी कैमरे के सामने रिश्वत लेते पकडे गए तो क्यूँ नही उनको पुलिस के हवाले किया गया ? मात्र जांच कमिटी बना कर मामले को रफा दफा करने का प्रयास क्यूँ किया जा रहा है ? अगर ये सब सच्चे है तो फिर ललित मोदी ने कौनसा गुनाह कर दिया था ?  
                                                        इस शर्मनाक रिश्वत काण्ड के अलावा भी आई पी एल में सब कुछ सामान्य नहीं है ! आई पी एल रईसों  और बिगडैल औलादों के साथ साथ नेताओं ,अभिनेताओं और क्सत्ता कारोबारियों का एक ऐसा गठजोड़ बन गया है जहाँ देर रात तक रेव पार्टियाँ चलती है वो भी पुलिस और कानून  के सामने !रोजाना होटलों पर छापे  मारने  वाली पुलिस यहाँ बेबस दिखाई देती है ,क्यूंकि यहाँ सब नवाब है !
करोड़ों रुपैयों के खेल में देश की कितनी बदनामी हो रही है ,इसका अंदाज़ा किसी को नही है।...क्या आई पी एल के लिए सब कुछ दांव पर लगाना उचित है ? अभी भी समय रहते सरकार को चेत जाना चाहिए ! इस खेल आयोजन का पूरा नियंत्रण सरकार अपने हाथ में लें और पारदर्शिता के साथ इसमें सुधार  किये जाने चाहिए....अन्यथा  इसको बंद करना ही सही रहेगा।...

4 comments:

काजल कुमार Kajal Kumar said...

सांसद भी रि‍श्‍वत लेते पकड़े गए, संसद भी भंग....

RAJNISH PARIHAR said...

बात सिर्फ रिश्वत की नही है ,देर रात पार्टियों में जो कुछ होता है ,वो उचित है क्या ?पैसा तो छोडिये यहाँ देश की प्रतिष्ठा का सवाल है !

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी said...

गंभीर समस्या पर सामयिक सटीक आलेख...बहुत बहुत बधाई...

RAJNISH PARIHAR said...

पढने और सराहने हेतु धन्यवाद.....