Tuesday, February 16, 2010

हरिभूमि में 'ये दुनिया है"...

  हरी भूमि समाचार पत्र के १५ फ़रवरी के अंक में वेलेंटाइन डे पर लिखे ये दुनिया है के लेख  को प्रकाशित किया गया है!हमारे विचारों से सहमत होने तथा अन्य लोगों तक पहुँचाने के लिए आभार...

7 comments:

Udan Tashtari said...

बधाई.

S B Tamare said...

परिहार जी,
हमारे प्यार के इतिहास की अनूठी जोड़ी कृष्ण और राधा का पुरजोर उदहारण दे कर आपने मत को अच्छी तरह पेश किया आपने / रोचक रचना के लिए बधाई /

संगीता पुरी said...

बहुत बधाई !!

क्रिएटिव मंच-Creative Manch said...

bahut bahut badhayi
shubh kamnayen

रंजन राजन said...

मेरी ओर से भी बहुत बहुत बधाइयां

RAJNISH PARIHAR said...

जी..धन्यवाद!!!

अल्पना वर्मा said...

badhaayee..aap ne lekh achcha likha hai.

Radha-krishn ki dharati par V-day....!!!!!!!!!!