Sunday, September 27, 2009

इकोनोमी क्लास का ढोंग क्यूँ?

लो जी थरूर साहब भी केटल[इकोनोमी]क्लास में सफर को राजी हो गए!होते भी क्यूँ नहीं महारानी और युवराज़ जो ऐसा चाहते है!लेकिन इससे क्या होगा ?विमान तो अपने गंतव्य तक जाएगा ही ...!फ़िर किसके और कैसे .paise... बचेंगे ?ऊपर से सुरक्षा बलों ने कुछ सीटें और खाली करवा ली!सोनिया जी और राहुल के ऐसा चाहने से किसी का भला होने वाला नहीं है!अगर वास्तव में ही खर्चा कम करना है तो जनता के गाढे पैसे की बर्बादी रूकनी चाहिए!आज कोसा विधायक,मंत्री या कोई नेता ऐसा है जो अपने वेतन से काम चला रहा है?आज एक अदना सा आदमी अपने मासिक वेतन से घर नहीं चला सकता,उसे तो जैसे तैसे जीने की आदत पड़ चुकी है !और एक ये नेता जी है जो अपने वेतन से इतना कमा लेते है कि इन्हे किसी चीज़ कि कमी नहीं....!बस इसी बात में .सारा रहस्य छिपा है!आपने किसी नेता को भीख मांगते देखा है?मैंने बहुत से राष्ट्रीय खिलाड़ियों,पुरुस्कृत शिक्षकों और सवतंत्रता सेनानियों को रोज़ी रोटी के लिए संघर्ष करते देखा है!वे पूरी जिंदगी में इतना नही कमा सके कि अपना पेट भर सके और एक छोटा सा नेता पाँच साल में इतना कैसे कमा लेता है?इस प्रशन में ही सारे उत्तर .छिपे है!

5 comments:

रश्मि प्रभा... said...

वाह.......कितनी सटीक बात कही है

बेरोजगार said...

@कैरानवी जी
@अविनाश वाचस्पति जी
@वन्दे ईश्वरम vande ishwaram …
@RAJNISH PARIHAR जी
सभी को मेरी तरफ से बहुत-बहुत धन्यवाद. आप लोगो ने मेरी भावनाओं को समझा.

दर्पण साह "दर्शन" said...

economy class main jaiyenge///z++ ki security leke//pratikaatmak roop se///
Ra sa'ab ye wahi tharror saa'b hain jo kal tak paanch sitara hotel main 'tweetiya' rahe the.

Aake blog main lekhon ki kadiya padh daali....
..lekhni ne prabhavit kiya !

दर्पण साह "दर्शन" said...

taaza post ki jaankar ke baare main aapne jankari maangi hai....
..apne alp gyan se aapki shayta karne ki koshish karoonga..
mujhe mail kar devien jo bhi jankari chahiye.
:)

Babli said...

बहुत बढ़िया लगा ! बिल्कुल सही बात फ़रमाया है आपने! इस बेहतरीन पोस्ट के लिए बधाई!